अमलेश्वर हत्याकांड: पुलिस ने दो संदिग्ध रिश्तेदारों को हिरासत में लिया, एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से मचा है हड़कंप

ताज़ा खबर
India's No 1 Digital Newspaper

भिलाई. अमेलश्वर थाने अंतर्गत एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या और 11 साल के मासूम पर प्राणघातक हमले से ग्राम खुड़मुड़ा में मातम पसरा हुआ है। इसी बीच पुलिस ने मंगलवार अल सुबह रायपुर के बैजनाथ पारा से दो संदिग्धों को हिरासत में लिया है। मिली जानकारी के अनुसार दोनों संदिग्ध मृतकों के रिश्तेदार हैं। फिलहाल पुलिस इस मामले में दोनों से पूछताछ कर रही है। वहीं दिलदहला देने वाली इस घटना के बाद लोग बेहद गुस्से में है। अप्रिय स्थिति से निपटने पुलिस ने अतिरिक्त बल भी तैनात कर रखा है। लोगों का कहना है कि बालाराम सोनकर परिवार की किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। ऐसे में इन हत्याओं को किसने और क्यों अंजाम दिया? यह लोगों के समझ से परे है। ग्रामीणों ने बताया कि खुड़मुड़ा बालाराम सोनकर का ससुराल है। शादी के बाद पत्नी दुलारी बाई के साथ अपना गांव छोड़कर यहां आ गए थे। रोजी-मजदूरी करते-करते छह एकड़ खेत के किसान बन गए थे। अपने चार बेटों सोमनाथ, गंगा प्रसाद, रोहित और हरिशचंद्र के साथ खुशहारल जीवन जी रहे थे। हरिशचंद्र दस साल से लापता है। सोमनाथ और गंगा प्रसाद बस्ती में अपने परिवार के साथ रहते हैं। बालाराम और मझला बेटा रोहित खेत में अपने-अपने मकान में अलग-अलग रहते थे। खेत में सब्जी-भाजी उगाकर जीवन यापन करते थे।

सोमवार अल सुबह घटना की जानकारी मिलते ही आस पास के लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। इधर पुलिस विभाग से दुर्ग रेंज आईजी विवेकानंद सिन्हा और एसपी प्रशांत कुमार ठाकुर मौके पर पहुंच गए। थोड़ी ही देर में डीजीपी डीएम अवस्थी भी खुद गाड़ी ड्राइव करते हुए पहुंचे। फिलहाल सोनकर परिवार के चार लोगों की हत्या करने वाले का कोई सुराग अभी पुलिस को नहीं मिला है, लेकिन जिस तरह से बालाराम अपने ससुराल में खेतिहर मजदूर से छह एकड़ फ ॉर्म का एक खुशहाल किसान बना उससे पुलिस पारिवारिक ईष्र्या द्वेष से भी घटना को जोड़कर देख रही है।

अमलेश्वर हत्याकांड: पुलिस ने दो संदिग्ध रिश्तेदारों को हिरासत में लिया, एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से मचा है हड़कंप

जमीन का दस्तावेज खंगाल रही पुलिस
प्रारंभिक विवेचना में यह बात भी सामने आई है कि कुछ भूमाफि या और बिल्डर्स की नजर भी उसके खेत पर रही है। रियल एस्टेट प्रोजेक्ट में बालाराम के खेत आड़े आ रहे हैं। इसके लिए कुछ भू-माफि या उन पर खेत बेचने लगातार दबाव बना रहे थे। पुलिस जांच भी इन्हीं दो बातों पर फ ोकस है। स्वयं डीजीपी अवस्थी ने भी प्रॉपर्टी विवाद की आशंका जताई है।

किसके लिए दुलारी ने बनाया चिकन
पुलिस की जांच में पता चला है कि रविवार की रात बालाराम के घर कोई मेहमान आया था। वह उसके ससुराल पक्ष से ताल्लुक रखता था। उसकी खातिरदारी में बालाराम की पत्नी दुलारी ने चिकन भी बनाया था। उस शख्स के बारे में अभी पता नहीं चल सका है। पुलिस उसके बारे में तफ्तीश कर रही है।

घटना स्थल से चार किमी तक ले गया डॉग स्क्वायड
पुलिस ने घटना में डॉग स्क्वायड की मदद ली। दुर्ग रेंज के डॉग मास्टर अमित कुर्रे डॉग ट्रेकर रूचि से ट्रेस कराया। रुचि घटना स्थल को सुंघने के बाद मौके से रवाना हुई। करीब चार किमी मोहदा गांव तक सुंघते हुए गई। इसके बाद लौट आई।

मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार
रायपुर से आए सीनियर फॉरेंसिक एक्सपर्ट टीएल चंद्रा ने घटना स्थल का निरीक्षण किया। मौत कैसे हुई इस पर वे किसी नतीजे तक नहीं पहुंच सके। कहा कि मेडिकल रिपोर्ट से स्पष्ट हो पाएगा कि हत्या गला दबाकर की गई है या किसी ठोस वस्तु से प्रहार कर।

6 एकड़ खेत में लगाई गई है सब्जी
बालाराम का पोता संजय ने बताया कि कुल 6 एकड़ खेत है। दादा ने अपने तीनों बेटों और दादी को एक-एक एकड़ दिया था। दो एकड़ में खुद खेती करते थे। खेत में प्याज, चौलाई, पालक, मूली, पत्ता गोभी, सेम की फसल लगी है। दादी रोज सुबह सब्जी को बोझा लेकर गांव आती थी। वह अपने साथ रायपुर ले जाता था। सोमवार की सुबह दादी सुबह नहीं आई तो वह खेत गया। वहां उनके दादा, दादी, चाचा और चाची की हत्या कर दी गई थी।

एक के बाद एक चार लाश देख चीख उठी भीड़
अमलेश्वर पुलिस ने पहले बताया कि सास और बहु की हत्या हुई है। पिता और बेटा लापता है। इधर घटना की जानकारी मिलते ही एएसपी प्रज्ञा मेश्राम और एसडीओपी पाटन आकाश राव गिरपुंजे मौके पर पहुंचे। कीर्तिन के सिर के पास खून से सना सिलबट्टा पड़ा था। सास दुलारी की लाश पानी टंकी में थी। जैसे ही दुलारी की लाश को बाहर निकला बालाराम की लाश भी ऊपर आई। एक व्यक्ति ने टंकी में हाथ डालकर देखा तो रोहित की लाश मिली। एक साथ चार लाश देख भीड़ चीख पड़ी। विवेकानंद सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज ने बताया कि चार व्यक्तियों की हत्या और एक बालक पर प्राणघातक हमला हुआ है। यह बहुत बड़ी घटना है। अभी तक प्रारंभिक जांच में किसी परिचित व्यक्ति का हाथ होने की आशंका है। आपसी रंजिश और व्यवसायिक प्रतिद्वंदिता पर भी फोकस कर लोगों से पूछताछ की जा रही है। हत्यारे को पकडऩे चार टीम बनाई गई है। सभी को टास्क दिए गए।

24 thoughts on “अमलेश्वर हत्याकांड: पुलिस ने दो संदिग्ध रिश्तेदारों को हिरासत में लिया, एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या से मचा है हड़कंप

  1. Hmm it seems like your site ate my first comment (it was extremely long) so I guess
    I’ll just sum it up what I had written and say, I’m thoroughly enjoying your blog.

    I too am an aspiring blog writer but I’m still new to everything.
    Do you have any helpful hints for rookie blog writers?
    I’d genuinely appreciate it.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *