मजदूरों की घर वापसी कहीं बड़ी चूक तो नहीं!

सम्पादकीय
India's No 1 Digital Newspaper

कहीं बड़ी चूक साबित ना हो जाए मजदूरों की घर वापसीपुराना संक्रमण के चलते अलग-अलग स्थानों पर काम करने वाले मजदूरों को उनके घर वापस किया जा रहा है। मजदूरों की घर वापसी पूरी तरह अव्यवस्थित है। हालांकि ट्रेनें चलाई गई हैं। बसें भी चलाई गई हैं लेकिन कहीं सोशल डिस्टेंस दिखाई नहीं देती। इसके साथ ही हजारों की संख्या में मजदूर पैदल, जुगाड़, गाड़ी, ऑटो और मोटरसाइकिल से अपने घर पहुंच रहे हैं। शुरुआती दौर में मजदूरों के घर पहुंचने के बाद उनकी जो टेस्टिंग हुई है उसमें बड़ी संख्या में मजदूर कोरोना वायरस से पीड़ित निकल रहे हैं।जिनके चलते स्थितियां बिगड़ रही हैं। यह स्थिति उत्तर प्रदेश और बिहार में कुछ ज्यादा ही खराब है। अब जब मजदूरों की लाॅकडाउन में घर वापसी हो रही है तब यह पता चला है कि महाराष्ट्र, गुजरात और दिल्ली में जो मजदूर काम कर रहे हैं उनमें सबसे ज्यादा मजबूत उत्तर प्रदेश व बिहार के ही हैं।
लाॅड डाउन में डेढ़ महीने तक परेशान होने के बाद मैं अपने घर लौट रहे हैं घर लौटने यह मजदूर ऐसे स्थानों से आ रहे हैं जहां कोरोना ने अपने पांव पसारे हुए हैं। अहमदाबाद से आने वाले तमाम मजदूर कोरोना पाजीटिव निकले। यही हाल मुंबई और दिल्ली से आने वाले मजदूरों का भी है जिसके चलते गांवों तक में कोरोना का खतरा बढ़ने लगा है। यूपी के कई जिलों कोरोना से मुक्त थे,लेकिन इन मजदूरों की वापसी के बाद यूपी के सभी 75 जिलों में कोरोना के मरीज मिलने लगे हैं। इनमें भी पिछले 1 सप्ताह में सबसे ज्यादा संख्या प्रवासी मजदूरों की है।
इस समय यूपी का ललितपुर जिला सबसे ठीक है जहां अभी तक सिर्फ एक पॉजिटिव मिला है। जबकि आगरा सबसे आगे चल रहा है। सरकार की ओर से मजदूरों को घर वापस करने का फैसला लिया गया ट्रेन भी चलाई गई, बसें भी चली इसके बावजूद अनेक स्थानों पर चाय रेलवे स्टेशन या बस स्टैंडों पर भारी भीड़ रही। सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं हुआ। सामान की तरह बैठकर मजदूर पहुंचे जिसके कारण स्थिति और बिगड़ने लगी। अब जिस तरह से पॉजिटिव लोगों की संख्या बढ़ रही है और इन मजदूरों की भूमिका काफी महत्वपूर्ण है उसके चलते यह लग रहा है कि आने वाले दिनों में यह माना जा सकता है कि मजदूरों की घर वापसी का फैसला कहीं बड़ी चूक साबित न हो।

1 thought on “मजदूरों की घर वापसी कहीं बड़ी चूक तो नहीं!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *