Vishwanath confident of being named in opposition

कर्नाटका बेंगलूरु
India's No 1 Digital Newspaper
मनोनयन कोटे से उच्च सदन पहुंचने की आस

मैसूरु. विधान परिषद केे द्विवार्षिक चुनाव में टिकट पाने से वंचित रहे भाजपा नेता ए. एच. विश्वनाथ को विधान परिषद में अपने मनोनयन का भरोसा है। जद-एस से भाजपा में आए विश्वनाथ विधानसभा चुनाव हार गए थे। उन्हें उम्मीद थी विधान सभा कोटे से उन्हें परिषद का टिकट मिल जाएगा लेकिन भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया। अब विश्वनाथ मनोनयन कोटे से उच्च सदन पहुंचने की आस कर रहे हैं।

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि वे मूलत: साहित्यकार हैं। उन्होंने ब्रिटन की संसदीय प्रणाली समेत कई विषयों पर राजनीतिक उपन्यास लिखे हैं। उन्हें साहित्य के क्षेत्र से विधान परिषद के लिए मनोनीत किया जा सकता है। मनोनयन में कोई कानूनी विवाद नहीं होगा। इस मामले में उन्होंने मुख्यमंत्री बीएस यडियूरप्पा से भी बात की है और उन्होंने ने इस पर विचार करने का आश्वासन दिया है।

भाजपा की ओर से आम कार्यकर्ताओं को राज्यसभा तथा विधान परिषद का प्रत्याशी बनाने का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा की पार्टी के लिए कार्यकर्ता नींव के पत्थर होते हैं। उन्हें भी अवसर मिलने चाहिए। हर राजनीतिक दल में समर्पित कार्यकर्ता होते हैं। ऐसे लोगों के परिश्रम से ही राजनीतिक दल सत्ता तक पहुंचते हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धरामय्या को वे ही कांग्रेस में लाए थे। लेकिन मुख्यमंत्री बनने के पश्चात सिद्धरामय्या इस बात को भूल गए।

बेंगलोर से सिद्धलिंग की रिपोर्ट

33 thoughts on “Vishwanath confident of being named in opposition

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *